best heart touching dhoka shayari | By L.K. Ambesh

These dhoka shayari will definitely touch your heart deeply. When someone’s heart is broken, in that situation these words help to express the feeling of heart. After the observation of various situations of life, I wrote these very heart touching dhoka shayari in hindi. Here you can read shayari on dhoka, pyar me dhoka shayari, dosti mein dhoka shayari in hindi. Here you can also get dhoka shayari image for your whatsapp and facebook status.

Shayar – L.K. Ambesh

Dhoka shayari in hindi – इस क़दर बदल चूका है वो शख़्श…

जो कभी समाया रहता था, हर ख़्वाब और ख़यालों में,

अब दिल के जहान में नहीं आता,

इस क़दर बदल चुका है वो शख़्श,

की अब पहचान में नहीं आता।

Jo kabhi samaya rehta tha har khwab aur khayalon me,

ab dil ke jahaan me nahin aata,

iss kadar badal chuka hai wo shakhsh,

ki ab pehchaan me nahi aata.


लोगों पर फ़रेब का इस क़दर रंग लग चूका था,

लोगों के धोखों से मेरा अंग-अंग थक चुका था,

फिर इस दिल में कोई आता भी तो आता कैसे,

मेरे दिल के दरवाजे पर जंग लग चुका था।

Logon par fareb ka iss kadar rang lag chuka tha,

logon ke dhokhon se mere ang-ang thak chuka tha,

fir iss dil me koi aata bhi to aata kaise,

mere dil ke darwaaje par jung lag chuka tha.


Dosti mein dhoka shayari – जिसको अपना रंग दिखाना था वो दिखा गया…

जिसको अपना रंग दिखाना था, वो दिखा गया,

चलो अच्छा ही है, ज़िन्दगी की हकीक़त सिखा गया,

की जैसे भरोसा करना कोई गुनाह था मेरा,

हर कोई मुझे इस गुनाह की सज़ा सुना गया।

Jisko apna rang dikhana tha, wo dikha gaya,

chalo achha hi hai, zindagi ki haqiqat sikha gaya,

ki jaise bharosa karna koi gunaah tha mera,

har koi mujhe is gunaah ki saza suna gaya.


तुम बदले तो हम भी कहां पुराने से रहे,

तुम आने से रहे, तो हम भी बुलाने से रहे।

Tum badle to hum bhi kahaan puraane se rahe,

tum aane se rahe, to hum bhi bulaane se rahe.


Shayari on dhoka – हम भी कितने नादान थे…

मुझे लगा वो मेरा हमदर्द बन जाएगा,

मुझे क्या पता था, वो मेरा सबसे बड़ा दर्द  जाएगा।

Mujhe laga wo mera hamdard ban jayega,

mujhe kya pata tha,

wo mera sabse bada dard ban jayega.


वो एक चेहरे के पीछे न जाने कितने

चहरे लगाए बैठे थे,

हम भी कितने नादान थे,

जो सब कुछ अपना उन्हें बनाये बैठे थे।

Wo ek chehre ke pichhe na jaane kitne

chehre lagaaye bethe the,

hum bhi kitne nadaan the,

jo sab kuch apna unhe banaye bethe the.


Pyar me dhoka shayari hindi – कि वो ये ख़ता करा के माना…

कि वो ये ख़ता करा माना,

मरीज़-ए-इश्क़ मुझे बना के माना,

दिल और दिमाग तक तो ठीक था,

मगर वो सब कुछ मेरा लुटा के माना |

Ki wo ye khata kara ke maana,

mariz-e-ishq mujhe bana ke maana,

dil aur dimaag tak to theek tha, magar

wo sab kuchh mera lutaa ke maana.


सपने तो मन में हज़ार थे,

हमें लगता था, हम ही उसके दिल के राज कुमार थे,

मगर क्या करें, आँख खुली तो पता चला,

हमारे अलावा भी, उसके आशिक़ दो-चार थे|

Sapne to man me hazaar the,

hame lagta tha, hum hi uske dil ke rajkumar the,

magar kya karen, aankh khuli to pata chala,

hamare alaawa bhi, uske aashiq do-chaar the.


Dhoka Shayari 2 lines – दर्द तो सबके दिलों में है…

दर्द तो सबके दिलों में है,

बस कोई लिख रहा है, कोई पढ़ रहा है |

Dard to sabke dilon me hai,

bas koi likh raha hai, koi pad raha hai.


हादसा ये भी हुआ, उन्हें भुलाते-भुलाते,

कई दफ़ा रो पड़े हैं हम, मुस्कुराते-मुस्कुराते |

haadsa ye bhi hua unhe bhulate-bhulate,

kai dafa ro pade hain hum, muskurate-muskurate.


Conclusion –

I hope you like this special collection of heart touching dhoka shayari written by L.K. Ambesh. Please give your valuable feedback in comments so that I can improve my writing skill. Your feedbacks motivate me a lot. Thanking you.

अगर आपको भी लिखने शौक है तो आप हमें अपनी शायरी अपने नाम और फोटो के साथ हमारी mail id – lkambeshkishayari@gmail.com पर भेज सकते हैं या कमेंट्स में लिख सकते हैं | हम आपकी शायरी इस ब्लॉग पर पब्लिश करेंगे | बहुत शुक्रिया आपका |

L.K. Ambesh: Hello, this is L.K. Ambesh. I am a writer, shayar and blogger.
Recent Posts